top button
    Futurestudyonline Community

Varishta Yoga as per Uttarkalamrita

+1 vote
298 views

Varishta Yoga is formed when Moon occupies Panaphara (2nd,5th,8th and 11th ) or Apoclima ( 3rd ,6th,9th & 12th) from the Sun in a nativity.

When this yoga occurs in Panaphara in a horoscope, person becomes genteel, intellectual and sedate but the result of this yoga will be moderate bcs of the position of the Moon is in Panphara.

And if Moon occupies in Apoklim and becomes strong by the aspect of Jupiter or Venus, the full-fledged result will be obtained.

If that Moon is posited in its own house, own - navamsa , exataltion - navamsa or in its friendly house native becomes very rich and happy.

 

 

References

Varishta Yoga as per Uttarkalamrita
posted Dec 24, 2020 by Vaswati Baksiddha

  Promote This Article
Facebook Share Button Twitter Share Button Google+ Share Button LinkedIn Share Button Multiple Social Share Button

Related Articles
0 votes
प्रिय दोस्तों, http://www.futurestudyonline.com 24/7 उपलब्ध असीमित कॉल बटन का एक विकल्प देता है, जिसका अर्थ है कि आप एक ज्योतिषी से एक व्यक्ति के लिए अपने सभी प्रश्नों के लिए बात कर सकते हैं (15 दिनों के लिए उसी के साथ बात करने के लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं है उस ज्योतिषी से असीमित बात कर सकते है। आपको असीमित कॉल बटन बुक नाउ साथ 3000 / - मूल्य की जन्म कुंडली भी मुफ्त प्राप्त होंगी। ऐप लिंक: https://goo.gl/YzQXe1 प्रति मिनट के विकल्प पर कॉल के लिए अपने गिफ्टेड 100 रुपये वॉलेट मनी का उपयोग करें https://youtu.be/_uB8ZOsHUII
0 votes

आप यहाँ मुफ्त प्रश्न कर सकते है लेकिन थोड़ी जानकारी से समाधान नही मिलता ,टेलीफोन से पूरी वार्ता के लिये सभी ज्योतिष विद्वान उपलब्ध है , यदि असिमित समय चाहिय तो book now करे , या per minute के लिए call now बटन दबाये , तुरन्त आपकी बात होगी ,बुक now से आपको 200 पेज की जन्मपत्रिका भी मिलेगी एवम असिमित वार्ता का लाभ मिलेगा । अपने भविष्य में कैरियर, धन, विवाह, उधोग, व्यापर ,राजनीति, सरकारी नोकरी , आदि अनेक जानकारी हासिल करिये

Best Astrologer in bangalore

Best astrologer in HSR layout

Best astrologer in bengaluru

Best astrologer in Jayanagar

Best astrologer in Elelctronic city

 www.futurestudyonline.com

 

0 votes
----ग्रहों के कारण ही व्यक्ति प्रेम करता है और ग्रहों के प्रभाव से दिल भी टूटते हैं। ज्योतिष में प्रेम विवाह के योगों के असफल रहने के कई कारण है। -----शुक्र व मंगल की स्थिति व प्रभाव प्रेम संबंधों को प्रभावित करने की क्षमता रखते हैं। लेकिन शुक्र की स्थिति प्रतिकूल हो तो प्रेम संबंध टूटते हैं। सप्तमेश का पाप पीड़ित होना, पापयोग में होना प्रेम विवाह की सफलता पर प्रश्नचिह्न लगाता है। -----शुक्र का सूर्य के नक्षत्र में होना और उस पर चन्द्रमा का प्रभाव प्रेम संबंध होने के उपरांत या परिस्थितिवश विवाह हो जाने पर भी सफलता नहीं दिलाता। शुक्र का सूर्य-चन्द्रमा के मध्य में होना भी असफल प्रेम का कारण है। प्रेम_विवाह_मजबूत_करने_के_लिए ---शुक्र की पूजा करें, पंचमेश व सप्तमेश की पूजा करें। ब्लू टोपाज (ज्योतिषी से पूंछकर) सुखद दाम्पत्य एवं वशीकरण हेतु पहनें। ----कुण्डली के पहले, पाँचवें सप्तम भाव के साथ-साथ बारहवें भाव को भी ज़रूर देखें क्योंकि विवाह के लिए बारहवाँ भाव भी देखा जाता है। यह भाव शय्या सुख का भी होता है।
0 votes
If 10th house from where Moon is sitting in natel chart, carries one or more Shubh grah....... this combination is known as Amla Yog. This yog indicates that native will lead life full of enjoy n will get all worldly material things what ever he or she demands. In case natal chart also contains shubh grah un 10th house, then this combination works more effectively. Such native enjoy enough Money, name n fame. Thank u Visharad , Er. Ashish Gupta Jyotish n Vastu Visharad. New Delhi
Dear friends, futurestudyonline given book now button (unlimited call)24x7 works , that means you can talk until your satisfaction , also you will get 3000/- value horoscope free with book now www.futurestudyonline.com
...